Loading...

ब्लॉग

घर   ब्लॉग

-June 10, 2022

जानें हाथ-पैरों में झुनझुनी (Tingling) किस बीमारी के लक्षण हैं?

हाथ-पैरों में झुनझुनी (Tingling) या शरीर में झुनझुनी का एहसास होना आम नहीं है ये कई सारी बड़ी बीमारियों की तरफ इशारा करता है। शुरूआती दिनों में तो आपको ये लक्षण काफी आम लगेंगे लेकिन बाद में आपकी परेशानी बढ़ा सकते हैं। अक्सर ऐसा होता है कि हम कुछ काम कर रहे हो या आराम से बैठे हो और अचानक ही हाथ-पैरों में झुनझुनी होने लगती है और कई बार तो उंगलियां भी अकड़ जाती हैं। ऐसे लक्षण दिखने पर हमें पहले से ही सचेत हो जाना चाहिए और इसके कारणों पर ध्यान देना चाहिए। 

हाथ पैरों में झुनझुनी के कारण

शरीर में झुनझुनी होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे - 

1.पोटाशियम की समस्या

शरीर में पोटाशियम (what causes tingling throughout the body) की कमी के कारण हाथ पैरों में झुनझुनी होती है। अगर आपके शरीर में पोटाशियम की मात्रा कम हो गई है तो आप लगातार अपने हाथ-पैर व पूरे शरीर में झुनझुनी (what causes numbness and tingling in arms and hands) का एहसास करेंगे। इसके अलावा बहुत अधिक थकान और पैरों की ताकत भी कम लगेगी। 

2.एक ही स्थान पर बेठे रहना

हाथ पैरों में झुनझुनी का सबसे बड़ा कारण लगातार एक ही स्थान पर बैठे रहना भी है। कई बर हम ऑफिस में या घर में टीवी देखते समय एक ही स्थान पर एक ही तरीके से बैठे रहते हैं जिसकी वजह से पैरों की गतिविधि रुक जाती है और पैरों में झुनझुनी पकड़ लेता है। क्योंकि इसकी वजह से शरीर के नसों तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता और ये झुनझुनी के माध्यम से सुन्नपन का संकेत देता है। 

3.नस का दबना 

हाथ-पैरों मे झुनझुनी का एक बड़ा कारण (what causes tingling throughout the body) नसो का दब जाना भी है। इसलिए कभी भी शरीर के झुनझुनी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि कई बार ऐसा भी हो सकता है कि रीढ़ की हड्डी के पास की नसों पर दबाव पड़ रहा हो। इसलिए जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए।

 4.बहुत ज्यादा मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तेमाल 

उन लोगों के भी हाथ-पैरों (what causes numbness and tingling in arms and hands) में झुनझुनी होती है जो ज्यादा कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं। अक्सर हम ऑफिस का काम करते हुए लगातार कई घंटो तक टाइपिंग करते हैं, जिसके कारण हाथ पैरों में झुनझुनी होने लगती है। इसके अलावा ज्यादा देर तक एक ही स्थिति में बैठने के कारण भी ऐसा होता है। 

हाथ-पैरों में झुनझुनी होना किस बीमारी के लक्षण हैं? 

हाथ-पैरों और शरीर (numbness in hands and feet)में झुनझुनी होना वैसे तो काफी आम से लगते हैं लेकिन इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि ये अंदर ही अंदर कई तरह के गंभीर लक्षणोंं को बढ़ावा दे सकते हैं। तो चलिए जानते हैं शरीर में झुनझुनी होना किन-किन बीमारियों के लक्षण हो सकते हैं- 

डायबिटीज की समस्या

1.डायबिटीज की समस्या

डायबिटीज भी हाथ-पैरों में झुनझुनी (numbness in hands and feet) का एक बड़ा कारण है। अगर हमेशा आपके हाथ-पैरों में झुनझुनी रहती है या आप काम करते-करते अकड़ जाते हैं तो हो सकता है आप डायबिटीज के शुरुआती स्टेज पर हो। ऐसे लक्षण महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें और अपना टेस्ट करवाएं। 

किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर 88569-88569 पर #BasEkCall करें और 24/7 डॉक्टर से FREE सलाह लें। 

2.किडनी से संबंधित समस्या  

किडनी से संबंधित समस्याओं के कारण भी हाथ, पैरों में झनझनाहट का एहसास होता है अगर कोई व्यक्ति किडनी से संबंधित बीमारियों से झूझ रहा है तो उसके शरीर और हाथ में झुनझुनी (kidney failure symptoms) महसूस होना आम है। किडनी से जुड़ी बीमारियों का सीधा असर नसों पर पड़ता है जिसकी वजह से नसें कमजोर हो जाती हैं, इसके अलावा जब किडनी खराब हो जाती है तो उसमें से कुछ द्रव बाहर निकलते हैं ये भी एक वजह है हाथ पैरों में झनझनाहट का। 

3.विटामिंस की कमी  

अगर बार-बार आपके हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं या अकड़ जाते हैं तो इसके पीछे का कारण शरीर में विटामिन (what vitamin deficiencies cause tingling in the hands and feet) की कमी हो सकती है। 

4.थाइराइड की समस्या

थाइराइड बढ़ना भी शरीर में झुनझुनी का कारण है। जब भी आपको लगे की आपके हाथ-पैर कमजोर हो गए हैं, बार-बार अकड़ जाते हैं या झुनझुनी हो जाती है तो तुरंत अपना टेस्ट करवाएं क्योंकि ये थाइराइड के लक्षण हो सकते हैं। थाइराइड (thyroid symptoms) से पीड़ित लोगों का शरीर कमजोर होने लगता है, बहुत ज्यादा थकान होती है, वजन बढ़ने या घटने लगता है। 

गर्भावस्था होना

5.गर्भावस्था होना 

गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह बदलाव होते हैं ये हार्मोन की वजह से होता है। हाथ, पैरों में सूजन, दर्द और झुनझुनी गर्भावस्था के लक्षण भी होते हैं। अगर आप गर्भवती हैं और ऐसे लक्षण महसूस कर रही हैं तो इसमें चिंता की कोई बात नहीं है ऐसा होना आम है। 

किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर 88569-88569 पर #BasEkCallकरें और 24/7 डॉक्टर से FREE सलाह लें। 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

1.हाथ पैर में झनझनाहट हो तो क्या करना चाहिए?

● रोज़ाना हल्दी वाला दूध पिएं। 
● खाने में दालचीनी का सेवन करें। 
● रोजाना योगा करें। 
● ज्यादा झुनझुनी होने पर 5 से 10 मिनट गर्म पानी में पैर डालकर बैठे
● डाइट सही रखें। 

2.हाथ पैरों में झनझनाहट होने का क्या कारण है?

डॉक्टर्स का कहना है कि पैर की कमजोरी आम है। ये खून की कमी के कारण भी हो सकता है, इसके लिए आप रेगुलर एक्सरसाइज करें, पैरों में तेल मालिश करें और खाने में विटामिन डी का सेवन करें। 

3.सोते समय हाथ सुन्न क्यों हो जाते हैं?

अक्सर सोते हुए हाथ या पैर अचानक से सुन्न पड़ जाते हैं इसका कारण शरीर में विटामिन बी की कमी हो सकती है। अगर रात में सोते हुए आपके हाथ सुन्न हो जाते है या झनझनाहट महसूस होती है तो इसपर ध्यान दें और डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। 

4.नसें कमजोर क्यों होती है?

नसें कमजोर होने से शरीर में कई तरह की गंभीर बीमारियां लग जाती हैं इसके पीछे कारण तनाव, अनहेल्दी भोजन, शरीरिक गतिविधि का कम होना और कमजोरी आदि नसें कमजोर होने के कारण हैं। 

5.शरीर में कमजोरी महसूस हो तो क्या करें?

अगर आपको लग रहा है कि आपका शरीर कमजोर हो गया है तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से सलाह लें, क्योंकि शरीर कमजोर होने के कारण और भी कई प्रकार की गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए लापरवाही ना करें। इसके अलावा आप शरीर की खोई हुई ताकत वापस लाने के लिए रोज़ाना सुबह नाश्ते में दूध और केले का सेवन ज़रूर करें। 

किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर 88569-88569 पर #BasEkCall करें और 24/7 डॉक्टर से FREE सलाह लें।