Loading...

ब्लॉग

घर   ब्लॉग

-May 18, 2022

जानिए पीरियड्स के कितने दिन बाद गर्भ ठहरता है

माता-पिता बनना हर जोड़े के लिए काफी खुशनुमा अवसर होता है, खासकर महिलाओं (pregnancy) के लिए। लेकिन पहले की तुलना में आजकल नवविवाहित जोड़े शादी के बाद कुछ समय तक क्वालिटी टाइम बिताना और एक दूसरे को अच्छे से जानना- समझना पहले प्रिफर करते हैं, यही वजह है कि वो सुरक्षित यौन संबंध बनाने में विश्वास करते हैं। चाहे आप गर्भधारण का प्लान कर रही हो या इसे रोकने का, हर स्टेप के लिए एक सही समय का होना ज़रूरी है, तो आज के इस लेख में हम आपके लिए पीरियड्स और प्रेगनेंसी से संबंधित सभी सवालों के जवाब लेकर आए हैं। 

गर्भावस्था या गर्भधारण क्या है? (how does pregnancy occur?)

सबसे पहले तो ये जान लेते हैं कि गर्भावस्था या गर्भधारण क्या होता है। दरअसल गर्भावस्था तब होती है जब एक शुक्राणु एक ऐग सेल को फर्टिलाइज़ करता है, इस दौरान जो ऐग फर्टिलाइज़ होता है वो गर्भाशय में जाकर प्रत्यारोपित हो जाता है। फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया के बाद ऐग सेल फैलोपियन ट्यूब के जरिए अंडाशय से गर्भाशय तक पहुंचती है जिसे गर्भाशय से जोड़ा जाता है। इस पूरी प्रक्रिया ही अंत में गर्भावस्था कहलाती है। आपको बता दें कि शारीरिक संबंध बनाने के 5 दिन बाद तक किसी भी समय महिला गर्भधारण कर सकती है क्योंकि 5 दिनों के बाद वो ओवम को फर्टिलाइज़ करने का काम शुरु कर देती है। 

पीरियड्स के कितने दिन बाद गर्भ ठहरता है (Periods Ke Kitne Din Baad Pregnancy Hoti Hai)

गर्भावस्था (pregnancy) को लेकर महिलाओं के मन में कई तरह की उलझने रहती हैं इनमें से ही एक ये है कि पीरियड्स के कितने दिनों बाद गर्भधारण (right time for pregnancy) होता है। तो आपको बता दें कि पीरियड्स के बाद प्रेगनेंसी अगले पीरियड साईकल से पहले हो जाती है। आमतौर पर पीरियड्स साईकल 28 दिनों का होता है ऐसे में पीरियड्स खत्म होने के 10वे दिन से लेकर 17वे दिन तक गर्भधारण करने का सही समय माना जाता है। अगर आपका भी मासिक चक्र 28 दिनों का है तो गर्भधारण करने की सबसे ज्यादा संभावना 12वें से 14वें दिन अधिक होती है वहीं अगर पीरिड्स के बाद 17 दिन बीत गए हैं तो गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। 

बता दें कि डॉक्टर्स के अनुसार ओव्यूलेशन का दिन ही गर्भधारण करने का सबसे सही समय (right time for pregnancy) माना जाता है। अगर आप बेबी प्लान कर रहे हैं तो ओव्यूलेशन से पहले पांच दिन में ही शारीरिक संबंध बनाएं क्योंकि इस दौरान गर्भधारण की संभावना अधिक होती है। 

अगर आप बेबी प्लान कर रही हैं या गर्भावस्था व पीरियड को लेकर किसी भी तरह की जानकारी पाना चाहती हैं तो तुरंत 88569-88569 पर #BasEkCall करें और स्त्री रोग विशेषज्ञ से FREE सलाह लें। 

ये भी पढ़ें- इन 5 लक्षणों से जानें आप गर्भवती हैं या नहीं

क्या पीरियड्स में संबंध बनाने से प्रेग्नेंसी हो जाती है?

क्या पीरियड्स में संबंध बनाने से प्रेग्नेंसी हो जाती है?

पीरियड्स और प्रेगनेंसी  (pregnancy) को लेकर हमेशा लोगों के मन में कई तरह के सवाल होता हैं जैसे- क्या पीरियड्स के दौरान सेक्स करना सेफ है? क्या पीरियड्स में सेक्स करने से प्रेग्नेंट हो जाते है? पीरियड्स के कितने दिन बाद संबंध (sex in periods chances of pregnancy in hindi) बनाना चाहिए ? तो हम आपको बता दें कि, जानकारी के अनुसार प्रेगनेंसी का समय ओव्यूलेशन के दिनों के आसपास ही होता है। अगर आप ओव्यूलेशन के समय संबंध बनाते हैं तो गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है। 

पीरियड्स के कितने दिन बाद गर्भ ठहरता है (Periods Ke Kitne Din Baad Pregnancy Hoti Hai)

प्रेग्नेंसी टेस्ट कितने दिन बाद करनी चाहिए (Kitne Din Baad Pregnancy Test Karna Chahie)

डॉक्टर्स का कहना है कि पीरियड्स आने से पहले या दूसरे दिन प्रेगनेंसी टेस्ट (pregnancy test) करनी चाहिए। इसके अलावा आमतौर पर सही रिजल्ट पीरियड मिस होने के एक हफ्ते बाद टेस्ट करने से ही आता है। प्रेगनेंसी टेस्ट (pregnancy test) करने के कई तरीके हैं, आप चाहें तो घर बैठे भी प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं। आजकल मार्केट में कई ऐसे प्रोडक्ट हैं जो घर बैठे ही प्रेग्ननेंसी टेस्ट(pregnancy kit use in hindi) की सुविधा देते हैं, और रिजल्ट भी एकदम सटीक आते हैं। इसके अलावा कई महिलाएं ऐसी होती है जो खुद से टेस्ट ना करके डॉक्टर के पास जाना सही समझती हैं। 

आमतौर पर प्रेगनेंसी टेस्ट Period Ke Kitne Din Baad Pregnant Hoti Hai ये पता लगाने के लिए किया जाता है। आप चाहे घर पर टेस्ट करें या फिर अस्पताल जाकर दोनों ही जगह टेस्ट के लिए यूरिन की आवश्यकता होती है क्योंकि यूरीन में ही प्रेगनेंसी के हार्मोन्स मौजूद होते हैं जिससे गर्भवस्था(pregnancy test) का पता चलता है। 

प्रेगनेंसी में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

1.माहवारी के कितने दिन बाद बच्चा ठहरता है?

माहवारी चक्र खत्म होने के बाद एक महिला गर्भवती हो सकती है। गर्भधारण के लिए ओव्यूलेशन का समय और पीरियड्स के बाद के 5 दिन काफी महत्वपूर्ण होते हैं। 

2.पीरियड कितने दिन बाद आता है या एमसी कितने दिन बाद आती है?

गांव की भाषा में पीरियड्स को एमसी भी कहते हैं। वैसे तो आमतौर पर महिलाओं के पीरियड्स संतुलित और नियमित ही रहते हैं लेकिन कभी-कभार पीरियड चक्र असंतुलित हो जाता है। दरअसल मासिक चक्र का समय 28 दिनों का होता है (pregnancy kit use in hindi) पहले मासिक धर्म के बाद दूसरा मासिक धर्म 3 से 6 हफ्ते के बीच कभी भी शुरु हो सकता है। लकिन कभी-कभी ये साईकल असंतुलित भी हो सकता है। 

3.पीरियड कितने दिन का होता है?

पीरियड साइकल 28 दिनों का होता है यानि हर 28 दिनों के बाद आपका पीरियड चक्र शुरु हो जाता है जो कि 3 से 5 दिनों तक चलता है। लेकिन कभी-कभार ये साइकल असंतुलित भी हो सकते हैं। इसके अलावा हर महिला का शरीर अलग होता है जिसकी वजह से उनका पीरियड साइकल भी अलग हो सकता है, जैसे किसी महिला को पीरियड्स में अधिक दर्द होता है तो वहीं कुछ को कम। 

4.प्रेगनेंसी के क्या क्या लक्षण (pregnancy symptoms) होते हैं?

बार-बार पेशाब आना, कब्ज, कमर में दर्द, मूड चेंज और वजायनल डिस्चार्ज आदि गर्भावस्था के पहले स्टेज के लक्षण (pregnancy symptoms) हैं।

5.पीरियड खुल के आने के लिए क्या करे?

आमतौर पर कई महिलाएं ऐसी हैं जो पीरियड्स साईकल की वजह से परेशान रहती हैं, क्योंकि पीरियड खुलकर ना आने के कारण शरीर में कई तरह की परेशानी हो जाती है, इसलिए पीरियड का खुलकर आना बेहद ज़रूरी है। अगर आपके परियड्स असंतुलित हैं और रुक-रुक कर आते हैं तो तुरंत स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें और खुलकर बात करें। 

अगर आप बेबी प्लान कर रही हैं या गर्भावस्था व पीरियड को लेकर किसी भी तरह की जानकारी पाना चाहती हैं तो तुरंत 88569-88569पर कॉल करें और स्त्री रोग विशेषज्ञ से FREE सलाह लें। 

ये भी पढ़ें-Unwanted 72: फायदे, नुकसान और इस्तेमाल का तरीका