Loading...

ब्लॉग

घर   ब्लॉग

-January 12, 2022

Heart Attack and Cardiac Arrest: हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट में अंतर

सही समय पर खाना नहीं खाने, जरूरत से ज्यादा वसा से भरपूर भोजन करने, तनाव लेने, हर रोज कसरत नहीं करने और सही समय पर नहीं सोने या कम सोने की वजह से कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं। उन्हीं समस्याओं में से हार्ट अटैक (heart attack) और कार्डियक अरेस्ट (cardiac arrest) की भी समस्याएं हैं।

आमतौर पर लोगों को यही लगता है कि हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट एक ही समस्या का दो नाम है और दोनों के लक्षण एक जैसे होते हैं। लेकिन, सच्चाई यह नहीं है. ऐसे में आइये आज हम आपको हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट में अंतर (Difference between Heart Attack and Cardiac Arrest) क्या होता है, उसके बारे में विस्तार से बताते हैं-

हार्ट अटैक की परिभाषा (Heart attack definition)

हार्ट अटैक दिल से संबंधित की एक बीमारी है। वहीं, हार्ट अटैक की समस्या किसी व्यक्ति को तब होती है, जब किसी ब्लॉकेज की वजह से या खून में थक्के बनने की वजह से दिल को जितनी मात्रा में खून मिलनी चाहिए उतनी मात्रा में नहीं मिल पाती है। इसके अलावा, दिल को धमनियों तक खून को भेजने के लिए ज्यादा दिक्कत होती है। नतीजतन, दिल का कुछ हिस्सा कार्य करना बंद कर देता है और हार्ट अटैक की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

Heart attack

कार्डियक अरेस्ट की परिभाषा (Cardiac arrest definition)

कार्डियक अरेस्ट होने पर दिल धड़कना बंद कर देता है, जिसकी वजह से व्यक्ति सांस नहीं ले पाता है। ऐसे में समय पर इलाज न मिले तो व्यक्ति की मौत होने की संभावना काफी ज्यादा होती है। इससे बचाने के लिए व्यक्ति को सीपीआर दिया जाता है। गौरतलब है कि हर साल कई हजार लोगों में से एक व्यक्ति की मौत इससे हो जाती है।

हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट में अंतर (Difference between heart attack and cardiac arrest)

आमतौर पर कार्डियक अरेस्ट में दिल धड़कना बंद कर देता है, जबकि हार्ट अटैक का दौरा पड़ने पर दिल सामान्य रूप से धड़कना जारी रखता है, भले ही दिल को धमनियों तक खून को भेजने के लिए कठिनाई होती है। इसके अलावा, किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक तब आता है जब ब्लॉकेज की वजह से या खून में थक्के बनने की वजह से दिल को उचित मात्रा में खून नहीं मिल पाता है, और कार्डियक अरेस्ट की समस्या किसी व्यक्ति को तब होता है जब दिल की खराबी होती है।

क्या कार्डियक अरेस्ट दिल का दौरा है? (Is cardiac arrest a heart attack?)

आमतौर पर जिन लोगों को पहले हार्ट अटैक आ चुका होता है, उन्हें कार्डियक अरेस्ट आने की संभावना काफी ज़्यादा रहती है। इन दोनों के बीच अगर अंतर की बात करें तो कार्डियक अरेस्ट में दिल की धड़कनें रुक जाती हैं, वहीं दिल के दौरे में, हृदय धड़कता रहता है, भले ही दिल के धमनियों को खून नहीं मिल रहा हो।

कार्डियक अरेस्ट बनाम हार्ट अटैक (Cardiac arrest vs heart attack)

हार्ट धमनियों में जब ब्लड की सप्लाई किसी कारण से रुक जाती है या फिर प्रभावित हो जाती है तो हार्ट अटैक पड़ता है। हालांकि इस स्थिति में दिल शरीर के दूसरे हिस्सों में ब्लड सप्लाई करता रहता है। वहीं, कार्डिएक अरेस्ट में दिल अचानक ही शरीर में ब्लड पंप करना बंद कर देता है यानि दिल धड़कना बंद करता है। ऐसे में जिस व्यक्ति को कार्डिएक अरेस्ट का दौरा पड़ता है, वह व्यक्ति अचानक से बेहोश हो जाता है।

अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

1.कार्डियक अरेस्ट कौन सी बीमारी होती है?

कार्डियक अरेस्ट एक ऐसी ही एक बीमारी है, जिसके बारे में लोग बेहद कम जानते हैं। लेकिन ये एक गंभीर स्थिति होती है, जिसमें दिल अचानक से धड़कना बंद हो सकता है और दिल की धड़कन अनियमित हो जाती है। हर साल कई हजार लोगों में से एक व्यक्ति की मौत इससे हो जाती है।

2.हार्ट अटैक का पता कैसे चलता है?

दिल के दौरे में सीने में अक्सर जोर का दर्द उठता है, लेकिन कुछ लोगों को सिर्फ हल्के दर्द की शिकायत हो सकती है। अन्य लक्षणों में मन अशांत लगना या चक्कर आना, पसीने से तरबतर होना, सांस लेने में तकलीफ, मतली, बेचैनी महसूस होना, खांसी के दौरे, जोर-जोर से सांस लेना शामिल है।

cardiac arrest

3.हार्ट अटैक आने से पहले क्या संकेत देता है?

यदि आपके दिल में खून का प्रवाह कम होने लगा है। इसके अलावा हार्ट अटैक आने का एक लक्षण नींद की कमी भी है। नींद नहीं आने से शरीर में कई बीमारियां जन्म लेने लगती हैं। ऐसे में अगर नींद की कमी है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

88569-88569 पर कॉल करके भी डॉक्टर से FREE सलाह पा सकते हैं।

4.हार्ट अटैक का दर्द कैसे होता है?

हार्ट अटैक का दर्द एक जगह से दूसरी ओर बढ़ता है। सीने के बीच से आपके जबड़ों, गर्दन और लेफ्ट साइड में हाथ में फैलता महसूस होता है। सामान्य दर्द जबड़े या गर्दन की तरफ नहीं बढ़ता है।

यदि आप हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्‍ट का कोई भी लक्षण महसूस कर रहे हैं, तो देर ना करें तुरंत 88569-88569 पर #BasEkCall करें और  Medpho के डॉक्टर से FREE परामर्श लें।