Loading...

ब्लॉग

घर   ब्लॉग

Vivek Rai-September 08, 2022

Jaundice Diet: पीलिया में खाएं ये चीजें और इन चीजों से करें परहेज

jaundice-food-to-eat

पील‍िया यानी जॉन्‍ड‍िस की समस्या इंफेक्‍शन की वजह से होती है। वहीं पीलिया हेपेटाइटिस-A और हेपेटाइटिस-C वायरस के वजह से होती है। आमतौर पर खून में 1% बिलीरुबिन होता है, लेकिन मात्रा 2.5% से अधिक होने पर पीलिया हो जाता है।

पीलिया से पीड़ित व्यक्ति की बीमारी की वजह से त्वचा और आंखें पीली पड़ जाती हैं। वहीं बीमारी के दौरान और ठीक होने के कुछ समय बाद तक डाइट (Jaundice Diet) पर विशेष ध्‍यान देने की आवश्यकता होती है।

दरअसल, जॉन्‍ड‍िस से पीड़ित व्यक्ति की खानपान (Jaundice Diet) ऐसी होनी चाह‍िए जो लिवर पर ज्‍यादा प्रभाव न डाले। इसके अलावा पीलिया के लक्षण (Symptoms of Jaundice) दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए। नजरअंदाज करने पर पीलिया खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं कि पीलिया की समस्या होने पर क्या खाएं? और पीलिया की समस्या होने पर किन चीजों से परहेज करें-

अगर आपके पास आयुष्मान कार्ड है तो Medpho हेल्पलाइन नंबर 88569-88569 पर #BasEkCall करें और अपना FREE इलाज करवाएं या नीचे दिए गए फॉर्म को भरें।

 

पीलिया होने पर क्या खाएं और किन चीजों से परहेज करें (Diet Chart For Jaundice Patients)

पीलिया की समस्या से विशेष परहेज की जरूरत होती है। इसके लिए हमेशा पीलिया के रोगियों को खानपान  (Jaundice Diet)  पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है-

1. पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें: पीलिया की समस्या होने पर सबसे जरूरी हमेशा हाइड्रेटेड रहना होता है। वहीं पानी पाचन प्रक्रिया में मदद करके और शरीर से व‍िषैले पदार्थों को बाहर निकालकर काम को आसान बनाता है।

2. गन्ने के जूस का सेवन करें: पीलिया की समस्या होने पर गन्ने के जूस का सेवन करना चाहिए। वहीं इसमें आप स्वाद अनुसार नींबू रस डालकर अधिक से अधिक सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से पीलिया रोग में बहुत जल्द आराम मिलता है।

3. भोजन हल्‍का करें: पोषक तत्वों से भरपूर हेल्‍दी खाना लिवर से जुड़ी समस्याओं को दूर करने और आपके स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार करने में बहुत ज्यादा मदद करता है। वहीं खाना हल्‍का और ऐसा होना चाह‍िए जो आसानी से पच जाए। 

अगर आपके पास आयुष्मान कार्ड है तो Medpho हेल्पलाइन नंबर 88569-88569 पर #BasEkCall करें और अपना FREE इलाज करवाएं या नीचे दिए गए फॉर्म को भरें।



4. छाछ का सेवन करें:  पीलिया के मरीजों को छाछ और दही सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से पाचन तंत्र में सुधार होता है और पीलिया से जल्दी राहत मिलता है।

5. मूली के रस का सेवन करें: मूली का रस पीने से खून में अतिरिक्त बिलीरुबिन बाहर निकल जाता है। पीलिया की समस्या से पीड़ित व्यक्ति को प्रतिदिन कम से कम 1 गिलास मूली के  रस का सेवन करना चाहिए।

6. फलों और सब्जियों का सेवन करें: फल और सब्जियां थकान को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, इसमें एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर होते हैं, जो पाचन प्रक्रिया को आसान करने में मदद करते हैं। सभी प्रकार के फल और सब्जियां स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं।

jaundice-food-not-to-eat

पीलिया होने पर किन चीजों से परहेज करें (What should we not to Eat During Jaundice?)

पीलिया से पीड़ित व्यक्ति को कुछ चीजों का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए। इनके सेवन से पीलिया की समस्या से राहत पाने में देरी हो सकती है-

1. चाय और कॉफी से बनाएं दूरी: पीलिया के मरीजों को चाय और कॉफी का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि  चाय और कॉफी में कैफीन पाया जाता है। जोकि पीलिया के मरीजों के लिए खतरनाक साबित होता है।

2. रिफाइंड और प्रोसेस्ड फूड:  पीलिया से पीड़ित व्यक्ति को मसालेदार और तले हुए भोजन से दूर रहना पड़ता है। दरअसल प्रोसेस्ड भोजन में शुगर की मात्रा अधिक होती है, जो लिवर को खराब कर सकती है।

3. अल्कोहॉल का सेवन न करें:  पीलिया से पीड़ित लोगों को थोड़ी देर के लिए शराब से पूरी तरह से बचना चाहिए। दरअसल, शराब में ऐसे कंपाउंड होते हैं जो पीलिया की समस्या से पीड़ित होने पर लिवर के लिए टॉक्सिक हो सकते हैं। इससे लिवर में सूजन और फाइब्रोसिस हो सकता है।

4. अचार का सेवन न करें:  पीलिया के मरीजों को अचार का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा नमक से भी परहेज करना चाहिए।

5. ज्‍यादा खाना खाने से बचना चाहिए: पील‍िया होने पर खाना लिमिट में करना चाहिए। ज्‍यादा खाना खाने से पाचन तंत्र ब‍िगड़ सकता है।

अगर आपके पास आयुष्मान कार्ड है तो Medpho हेल्पलाइन नंबर 88569-88569 पर #BasEkCall करें और अपना FREE इलाज करवाएं या नीचे दिए गए फॉर्म को भरें।

 

 

ब्लॉग में दी गई तथ्यों की पुष्टि 
डॉ. राहुल शर्मा, जनरल फिजिशियन (एमबीबीएस)

Frequently Asked Question ( FAQs)

1. पीलिया होने का मुख्य कारण क्या है? (Jaundice Causes in Hindi)

शरीर में बिलीरुबिन का लेवल बढ़ जाने की वजह से त्वचा, नाखून और आंखों का सफेद भाग पीला नजर आने लगता है। इस समस्या को ही पीलिया (Jaundice) कहते हैं। पीलिया से पीड़ित मरीज का समय पर इलाज ना हो तो रोगी को बहुत नुकसान झेलना पड़ता है।

2. जॉन्डिस के लक्षण क्या होते हैं? (Piliya ke lakshan in Hindi)

  1. बुखार होना
  2. थकान होना
  3. वजन घटना
  4. कमजोरी होना
  5. भूख नहीं लगना
  6. पेट में दर्द होना
  7. सिर में दर्द होना
  8. शरीर में जलन होना

3. जॉन्डिस में क्या-क्या नहीं खाना चाहिए?

पीलिया से पीड़ित लोगों  को अचार नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा नमक से भी परहेज करना चाहिए। इसके अलावा, मीट, चिकन और अंडे का भी सेवन नहीं करना चाहिए।

आयुष्मान योजना के तहत FREE सर्जरी कराने के लिए 88569-88569 पर कॉल करें